Monthly Magzine
Wednesday 20 Sep 2017

Current Issue

31जुलाई। प्रेमचंद जयंती। देश में अनेक स्थानों पर हर साल की तरह इस बरस भी कार्यक्रम हुए। प्रेमचंद को याद किया, विद्वानों ने उन पर व्याख्यान दिए, उनके चित्र पर माला पहनाई गई। यह सब कुछ वैसे ही हुआ होगा जैसा अमूमन होता आया है। प्रेमचंद जयंती हो या अन्य किसी महापुरुष की, उन्हें याद करने की एक लीक सी बंध गई है जिससे हटकर चलने की बात कम ही सोची जाती है। लेकिन छत्तीसगढ़ के एक ग्रामीण अंचल खैरागढ़ में प्रेमचंद जयंती इस साल  बिल्कुल अनूठे ढंग से मनाई गई।

अक्षर पर्व के सुधी पाठक खैरागढ़ के नाम से अपरिचित नहीं होंगे! यहां एशिया का सर्वप्रथम विश्वविद्यालय है

Read More

Previous Issues